कैलाश निवासी हो शिव भजन लिरिक्स - Kailash Nivasi Ho Shiv Bhajan Lyrics

कैलाश निवासी हो शिव भजन लिरिक्स


फ़िल्मी तर्ज - ऐतबार नहीं करना 

कैलाश निवासी हो 
तुम तो अविनाशी हो 
मरघट में भी रहके 
आप घट घट के वाशी हो 

जिसके तू करीब है 
बड़ा खुशनसीब है 
मौत भी करे क्या उसका 
जो तेरे करीब है 
हर हर सुखदासी हो,
प्रभु वेदप्रकाशी हो 
मरघट में रहके भी 
आप घट घट के वाशी हो 

बदली है कितनी तूने, 
फूटी तकदीरें 
तोड़ डाली पल में तूने, 
दुखों की जंजीरें 
संकट के नाशी हो,
प्रभु तुम दुखनाशी हो 
मरघट में रहके भी 
आप घट घट के वाशी हो 

आंखों में आंसू भरके 
जब कोई बुलाएगा 
सुनके आहें ये भक्तों की 
दौड़ा चला आएगा 
विषधर सन्यासी हो,
प्रभु तुम अविनाशी हो 
मरघट में रहके भी 
आप घट घट के वाशी हो

Singer- Mukesh kumar meena 
कैलाश निवासी हो शिव भजन लिरिक्स 
Kailash Nivasi Ho Shiv Bhajan Lyrics

Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics