Posts

Showing posts from July, 2019

भजलो दादाजी का नाम भजलो हरिहरजी का नाम - Bhajlo Dadaji Ka Naam Bhajlo Harihar Ji Ka Naam

Bhajlo Dadaji Ka Naam Bhajlo Harihar Ji Ka Naam  भजलो दादाजी का नाम भजलो हरिहरजी का नाम भजलो दादाजी का नाम भजलो हरिहरजी का नाम दूर दूर तक फ़ैल रही है महिमा उनके नाम की शोभा कितनी प्यारी लागे दादाजी के निशान की  खंडवा जिला है पावन नगरी दादाजी का नाम  भजलो दादाजी का नाम भजलो हरिहरजी का नाम ||  रिमझिम रिमझिम सावन बरसे पवन चले पुर्वायी  बन के टोली भक्तजनों की दादा के दर आयी  पाये दर्शन दादाजी के और किया प्रणाम  भजलो दादाजी का नाम भजलो हरिहरजी का नाम || अंधन को तो आँख दिया है कोड़न को दी काया  बांझन को तो पुत्र दिया है निर्धन को दी माया  दिन दयालु दादा मेरे सबके बनाये काम  भजलो दादाजी का नाम भजलो हरिहरजी का नाम ||  जो कोई सच्चे दिल से नारियल धुनी में चढ़ाये  भव सागर से नैया उसकी दादा पार लगाये  पूजा करलो भक्तो मेरे लो कहना मेरा मान  भजलो दादाजी का नाम भजलो हरिहरजी का नाम || दादाजी महाराज   धुनिवाले के भजन   1.      गुरु पुनम की रात सुहानी भजन 2.      धुनिवाले दादाजी का नाम भजले मनवा 3.      दादाजी का नाम भजलो हरिहरजी का नाम 4.      भर दो

शिव चालीसा - Shiv Chalisa In Hindi - Shiv Chalisa Lyrics - Shiv Chalisa Pdf

Image
शिव चालीसा - Shiv Chalisa ॐ नमः शिवाय ,ॐ नमः शिवाय  श्री गणेश गिरिजा सुवन, मंगल मूल सुजान  कहत  अयोध्यादास तुम, देहू अभय वरदान  जय  गिरिजा पति दिन दयाला सदा करत संतन प्रतिपाला || भाल चंद्रमा सोहात नीके  कानन कुंडल नागफनी के || अंग गौर शिर गंग बहाए  मुण्डमाल तन छार लगाए || वस्त्र खाल वाघम्बर  सोहे  छवि  को देख नागमुनि मोहे || मैना मातू  की हवै दुलारी बाम अंग सोहत छवि न्यारी || कर त्रिशूल सोहत छवि भारी  करत सदा शत्रून क्षयकारी || नंदी गणेश सोहे तहँ कैसे सागर मध्य कमल हैं जैसे || कार्तिक श्याम और गणराऊ  या छवि को कही जात न काऊ || देवन जबहि जाय पुकारा  तबही दुःख प्रभु आप निवारा || किया उपद्रव तारक भारी  देवन सब मिली तुमही जुहारी || तुरत षडानन आप पठायउ लवनिमेश महं मारी गिरायऊ || आप जलंधर असुर संहारा सुयश तुम्हार वीदित संसारा || त्रिपुरासुर सन युद्ध मचाई  सबही कृपा कर लींन बचाई || किया तपही भागीरथ भारी  पूर्ण प्रतिज्ञा तसू पुरारी || दानीन महं तुम सम कोऊ नाहीं  सेवक स्तुति करत सदाहीं || वेद न

अरे द्वारपालो कन्हैया से कहदो - Are DwarPalo Kanhaiya Se Keh Do Lyrics In Hindi

Are DwarPalo Kanhaiya Se Keh Do  देखो देखो ये गरीबी,ये  गरीबी का हाल   कृष्ण के दर पे विश्वास लेके आया हूँ  मेरे बचपन का यार है.. मेरा श्याम, यही सोच कर मै आस कर के आया हूँ.  अरे द्वारपालो कन्हैया से कह दो   के दरपे सुदामा गरीब आ गया है भटकते भटकते ना जाने कहा से तुम्हारे महल के करीब आगया है ना सरपे है पगडी  ना तन पे है जामा,  बतादो कन्हैया को नाम है सुदामा हा… बतादो कन्हैया को नाम है सुदामा. बस  एक बार मोहन से जा कर के कह दो के मिलने सखा बद‍नसीब आ गया है  अरे द्वारपालो कन्हैया से कहदो   के दरपे सुदामा गरीब आगया है सुनते ही दौड़े चले आये मोहन,  लगाया गले से सुदामा को मोहन हा… लगाया गले से सुदामा को मोहन हुआ रुख्मिणी  को बहुत ही अचंभा ये  मेहमान कैसा अजीब आगया है बराबर में अपने सुदामा बिठाये   चरण आँसुओं से श्याम ने धुलाये  चरण आँसुओं से श्याम ने धुलाये ना घबरायो प्यारे जरा तुम सुदामा  खुशी का समां तेरे करीब आ गया है  अरे द्वारपालो कन्हैया से कह दो   के दरपे सुदामा गरीब आगया है Are Dwar Palo Kanhaiya Se Keh Do Lyri

आरती कुंज बिहारी की लिरिक्स - Aarti Kunj Bihari Ki Lyrics ( Krishna Aarti )

Image
आरती कुंजबिहारी की - Aarti Kunj Bihari Ki Lyrics Find the best Aarti of kunj Bihari, bhajan videos, aarti lyrics in Hindi,aarti krishna ji Ki  and aarti kunj bihari ki lyrics here. Browse our great collection of Bhajan Videos, aarti  and Bhajan Lyrics and select your favorites and enjoy beautiful Krishna Aarti "Aarti Kunj Bihari Ki Lyrics" . आरती कुंजबिहारी की, श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की  गले में बैजंती माला,  बजावै मुरली मधुर बाला।  श्रवण में कुण्डल झलकाला, नंद के आनंद नंदलाला।  गगन सम अंग कांति काली,  राधिका चमक रही आली।  लतन में ठाढ़े बनमाली ,  भ्रमर सी अलक,कस्तूरी तिलक,  चंद्र सी झलक ललित छवि श्यामा प्यारी की, श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की , आरती कुंजबिहारी की , श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की कनकमय मोर मुकुट बिलसै,  देवता दरसन को तरसैं।  गगन सों सुमन रासि बरसै, बजे मुरचंग, मधुर मिरदंग,ग्वालिन संग  अतुल रति गोप कुमारी की,  श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की आरती कुंजबिहारी की , श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की  जहां ते प्रकट भई गंगा, 

लागी लगन मत तोडना भजन लिरिक्स - Lagi Lagan Mat Todna Bhajan lyrics

लागी लगन मत तोडना भजन लिरिक्स  Lagi Lagan Mat Todna  लागी लगन मत तोडना  हरिजी मेरी लागी लगन मत तोडना  प्रभुजी मेरी .... गृहस्थी बसायी मैंने तेरे ही नाम की  मेरा भरोसा मत तोड़ना  हरिजी मेरी लागी लगन मत तोडना  जल है गहरा नाव पुरानी  बिच भंवर मत तोडना  हरिजी मेरी लागी लगन मत तोडना  तू ही मेरा सेठ है तुही साहूकार है  ब्याज पे ब्याज मत जोड़ना  हरिजी मेरी लागी लगन मत तोडना  दास की बिनती दाता सुनलिजो  हाथ पकड़ मत छोड़ना  हरिजी मेरी लागी लगन मत तोडना लागी लगन मत तोडना  कृष्ण भजन Krishna Bhajan लागी लगन मत तोडना भजन लिरिक्स - Lagi Lagan Mat Todna  Bhajan lyrics हिंदी  ऐसे ही सुन्दर भजन आप यहां पर देख सखते है गणेश जी के भजन विट्ठलाचे अभंग मराठी राधा कृष्ण के भजन कृष्णाच्या गवळणी मराठी शिव जी के भजन गुरुदेव के भजन माता रानी के भजन दादाजी धुनिवाले के भजन साईं बाबा के भजन देश भक्ति गीत राम जी के भजन फ़िल्मी तर्ज पर भजन हनुमान जी के भजन बधाई गीत आरति संग्रह चालीसा संग्रह

श्याम सवेरे देखु तुझको कितना सुंदर रूप है - Sham Sawere Dekhu Tujhko Kitna Sundar Roop Hai

Image
Sham Sawere Dekhu Tujhko Kitna Sundar Roop Hai श्याम सवेरे देखु तुझको कितना सुंदर रूप है श्याम सवेरे देखु तुझको कितना सुंदर रूप है, तेरा साथ ठंडी छाया  बाकी दुनिया धूप है,  जब जब भी इसे पुकारू मै ,तस्वीर को इसकी निहारू मै ,  ओ मेरा श्याम आजाता मेरे सामने,  खुश  हो जाएगर सावरिया किस्मत को चमका देता,  हांथ पकडले अगर किसी का जीवन धन्यबना देता,  यह बातें सोच विचारू मै तस्वीर को इसकी निहारू मै,  ओ मेरा श्याम आजाता मेरे सामने,  गिरने से पहले ही आकर बाबा मुझे संभालेगा  पूरा है विश्वास है कभीतू तूफ़ानो से निकालेगा , ये तनमन तुझपे वारु मै ,तस्वीर को इसकी निहारू मै   ओ मेरा श्याम आजाता मेरे सामने,  श्याम के आगे मुझको तो ये दुनिया फिकी लगती है जिस मोह में और जान है वो इतनी नजदीकी लगती है  अपनी तक़दीर सवांरु मै ,तस्वीर को इसकी निहारू मै, ओ मेरा श्याम आजाता मेरे सामने,  ओ मेरा श्याम आजाता मेरे सामने,  श्याम सवेरे देखु तुझको कितना सुंदर रूप है Sham Sawere Dekhu Tujhko Kitna Sundar Roop Hai  Sham Sawere Dekhu Tujhko by Mayank Agrawal Krishna Bhaj