द्वारका में रखा सुदामा ने पहला कदम भजन फिल्मी तर्ज - मेरे प्यार की उमर हो

द्वारका में रखा सुदामा ने पहला कदम भजन

फिल्मी तर्ज - मेरे प्यार की उमर हो 

द्वारका में रखा सुदामा ने पहला कदम 
उसी पल हो गई आँखें कान्हा की नम 
द्वारका में रखा सुदामा ने..........

कैसे दौड़े कन्हैया कुछ कहा नहीं जाए 
बिना मिले मेरे श्याम से अब रहा नहीं जाए 
कान्हा को देख सुदामा भी भूल गए ग़म 
उसी पल हो गई आँखें कान्हा की नम 
द्वारका में रखा सुदामा ने..........

अपने हाथों से कान्हा छप्पन भोग खिलाये 
सब रानिया सेवा में मिलके चंवर डुलाये 
सेवा मैं जितनी करूँ आज उतनी है कम 
उसी पल हो गई आँखें कान्हा की नम 
द्वारका में रखा सुदामा ने..........

भोला भाला सुदामा अपनी पोटली छुपाये 
अन्तर्यामी मेरे श्याम से वो छुप नहीं पाए 
मेरे रहते प्यारे सही तुमने कितने सितम 
उसी पल हो गई आँखें कान्हा की नम 
द्वारका में रखा सुदामा ने..........

द्वारका में रखा सुदामा ने पहला कदम कृष्ण भजन
Dwarka Me Rakha Sudama Ne Pahla Kadam Krsihna Bhajan 

Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics