तेरे दर को मै छोड कहा जाऊ लिरिक्स - Tere Dar ko Mai Chhod Kaha Jau Lyrics

तेरे दर को मै छोड कहा जाऊ लिरिक्स 

तेरे दर को मै छोड कहा जाऊ
माँ दूजा कोई द्वार न दिखे,

अपना दुखडा मै किसको सुनाओ ॥
माँ दूजा कोई द्वार न दिखे
तेरे दर को मै छोड कहा जाओ,
माँ दूजा कोई द्वार न दिखे,

इक आस मुझे तुमसे है मैया ॥
टूटे कही न विश्वास मेरा मैया ॥
तेरे सिवा कहा झोली फैलाऊ
माँ दूजा कोई द्वार न दिखे
तेरे दर को मै छोड कहा जाऊ...

तेरे आगे मैने दामन पसरा है॥
मुझको ये मैया तेरा ही सहारा है॥
कहा जाऊ जहा जाके कुछ पाउ
माँ दूजा कोई द्वार न दिखे
तेरे दर को मै छोड कहा जाऊ...

मै भी आया मैया बन के सवाली है॥
तेरे दर से गया न कोई ख़ाली है॥
कैसे आज में निराश होंके जाऊ ,
माँ दूजा कोई द्वार न दिखे
तेरे दर को मै छोड कहा जाऊ...

तेरे दर को मै छोड कहा जाऊ लिरिक्स - Tere Dar ko Mai Chhod Kaha Jau Lyrics
Bhakti Bhajan Song Details

 Song  :- Tere Dar ko Mai Chhod Kaha Jau

 Singer:- Lakhbir Singh Lakkha

 Lyric  :-  Deep Mohamdabadi

 

Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics