तू महलों में रहने वाली मैं जोगी जटाधारी हूं लिरिक्स - Tu Mahalo Me Rahne Wali Mai Jogi Jatadhari Hu Lyrics

तू महलों में रहने वाली मैं जोगी जटाधारी हूं लिरिक्स

तू महलों में रहने वाली
मैं जोगी जटाधारी हूं
तेरा मेरा मेल मिले ना
रहता अटल अटारी हूं

पर्वत पे मैं कर गुजरा
मेरा कोई घर वार नहीं
व्याह कराके मेरे संभले
सांस ससुर का प्यार नहीं

तू सेजो पे सोने वाली आ
खटिया पलग निवास नहीं
तू मांगेगी कहाँ से दूंगा
सीसा हार सिंगार नहीं

तुझे छप्पन भोज की आदत है
मैं बिलकुल पेट पुजारी हूं
तेरा मेरा मेल मिले ना
रहता अटल अटारी हूं

तेरे प्यार में होई मैं दीवानी
अरे शम्भू
तेरे प्यार में होई मैं दीवानी

ब्रह्मा से तू व्याह कराले
ब्राह्मणी बन जावेगी
इंद्र से तू व्याह करवाले
इंद्र रानी बन जावेगी

विष्णु से तू व्याह कराले
पटरानी बन जवेगी
मेरे संग में व्याह की हट से
तेरी हानी बन जाओगी

तू राजा हिमाचल की लड़की
मैं समशान बिहारी हूं
तेरा मेरा मेल मिले ना
रहता अटल अटारी हूं

तू महलों में रहने वाली
मैं जोगी जट्टा धारी हूं
तेरा मेरा मेल मिले ना
रहता अटल अटारी हूं


Bhakti Bhajan Song Details

 Song  :- Tu Mahalo Me Rahne Wali

 Singer:-  Hansraj Raghuwanshi

 Lyrics  :- 

Comments

Popular posts from this blog

कृष्ण भगवान के भजन लिरिक्स - Krishna Bhajan Lyrics

गणेश जी के भजन लिरिक्स -Ganesh Ji ke Bhajan Lyrics ( Ganpati Ji Ke bhajan lyrics ) Bhajan List

शिव जी के भजन लिरिक्स - Shiv Ji ke Bhajan lyrics ( Bhole Nath ke Bhajan List )