जय हो जय हो तुम्हारी जी बजरंग बली लेके शिव रूप आना गजब हो गया - Jai Ho Jai Ho Tumhari ji Bajarangbali Bhajan

Jai Ho Jai Ho Tumhari ji Bajarangbali

जय हो जय हो तुम्हारी जी बजरंग बली 
लेके शिव रूप आना गजब हो गया 
त्रेतायुग में थे तुम आये द्वापर में भी 
तेरा कलयुग में आना गजब गो गया 

बचपन की कहानी निराली बड़ी 
जब लगी भूख हनुमत मचलने लगे 
फल समझ कर उड़े आप आकाश में 
तेरा सूरज को खाना गजब हो गया 

कूदे लंका में जब मच गयी खलबली 
मारे चुनचुन कर असुरो को बजरंगबली 
मारडाले अच्छो को पटककर वही 
तेरा लंका जलाना गजब हो गया

आके शक्ति लगी जो लखनलाल को 
राम जी देख रोये लखनलाल को 
लेके संजीवन बूटी पवन वेग से
पूरा पर्वत उठाना गजब हो गया 

जब विभीषण संग बैठे थे श्री राम जी 
और चरनो में हाजिर थे हनुमान जी 
सुन के ताना विभीषण का अंजनी के लाल 
फाड़ सीना दिखाना गजब हो गया

जय हो जय हो तुम्हारी जी बजरंग बली 
लेके शिव रूप आना गजब हो गया 
त्रेतायुग में थे तुम आये द्वापर में भी 
तेरा कलयुग में आना गजब गो गया 

Jai Ho Jai Ho Tumhari  ji Bajarangbali Bhajan 

Shree Hanuman ji ke Bhajan 

Bhajan Lyrics In Hindi 






Comments

Post a Comment

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics