वो मुरली याद आती है सुन कान्हा सुन भजन - Wo Murli Yaad Aati Hai Sun Kanha Sun Bhajan

वो मुरली याद आती है -Wo Murli Yaad Aati Hai

ये तेरी रस भरी मुरली मेरे मन को तडपाती है 
वो मुरली याद आती है सुन कान्हा सुन 
सुन कान्हा सुन मुरली ना बजा 

तुम्हारी याद में कान्हा मै दिन दिन भटकती हु 
जो आई रात तैरन को मै मछली सी तडपती हु 
ये तेरी सांवरी सूरत मेरे मन को तडपाती है 
वो सूरत याद आती है सुन कान्हा सुन 
सुन कान्हा सुन वो मुरली याद आती है 

सुना है आपने मथुरा में पापी कंस को मारा 
बचाए देव की वसुदेव दुलारा नन्द के लाला 
बचायी लाज द्रोपद की घटी ना पांच गज साडी 
वो साड़ी याद आती है वो सूरत याद आती है

ये तेरी रस भरी मुरली मेरे मन को लुभाती  है 
वो  मुरली याद आती है सुन कान्हा सुन 
सुन कान्हा सुन मुरली ना बजा 
ओ मुरली याद आती है वो मुरली याद आती है  

Wo Murli Yaad Aati Hai  Bhajan Lyrics In Hindi 




Comments

Post a Comment

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics