पंछियों की आवाजे गूंजती है आंगन में भजन लिरिक्स - Panchhiyo Ki Aawaje Gunjati Hai Aangan Me Bhajan lyrics

पंछियों की आवाजे गूंजती है आंगन में भजन लिरिक्स

पंछियों की आवाजे गूंजती है आंगन में
वो जरुर आएंगे आपकी बार सावन में 

एक दुसरे का दुःख बाटता नही कोई 
सब यहाँ पे उलझे है अपनी अपनी उलझन में
वो जरुर आएंगे आपकी बार सावन में 
पंछियों की आवाजे गूंजती है आंगन में

जान से भी बढ़कर है उसको कैसे भुलू मै 
वो बसा है इस दिल की एक एक धड़कन में
वो जरुर आएंगे आपकी बार सावन में 
पंछियों की आवाजे गूंजती है आंगन में

जिस्म क्या जवानी क्या जिंदगी लुटा देंगे 
कोई हम को बांधे तो चाहतो के बंधन में
वो जरुर आएंगे आपकी बार सावन में  
पंछियों की आवाजे गूंजती है आंगन में

पंछियों की आवाजे गूंजती है आंगन में
वो जरुर आएंगे आपकी बार सावन में 

पंछियों की आवाजे गूंजती है आंगन में भजन लिरिक्स -
Panchhiyo Ki Aawaje Gunjati Hai Aangan Me Bhajan lyrics hindi
Ghajal Qawwali lyrics in hindi 

Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics