भर दो झोली मेरी धुनिवाले आज बनकर मै आया सवाली - Bhar Do Jholi Meri Dhuniwale Aaj Bankar Mai Aaya Sawali

भर दो झोली मेरी धुनिवाले आज बनकर मै आया सवाली

भर दो झोली मेरी धुनिवाले
आज बनकर मै आया सवाली 

तुम रहम दिल हो दादा तुम्हारी 
बात जग में है सबसे निराली 
तेरे दरबार में ऊँचा नही ना कोई निचा है 
वाही पाता तेरे दर से जो की दिलदार सच्चा है 
भर दो झोली मेरी धुनिवाले आज बनकर मै आया सवाली 

तुम दयालु हो कहते है बन्दे तेरे 
झोली खाली है और हाथ खाली मेरे 
मांगू तुझसे नहीं तो मै जाऊं कहा 
तेरे जैसा रहम दिल मै पाऊ कहा 
भर दो झोली मेरी धुनिवाले आज बनकर मै आया सवाली 

है करिश्मे तुम्हारे भी चर्चे कही 
तेरे गुणगान वाले है बन्दे कही 
अर्ज मेरी भी सुनले मै भी तर जाऊंगा 
वरना चौखट पे सर रख के मर जाऊंगा 
भर दो झोली मेरी धुनिवाले आज बनकर मै आया सवाली 

चाहने वालो ने मुझको है धोके दिए 
और गरीबी में उलझन के मौके दिए 
तुमने मेरे ही जैसे कई के लिए 
गर्दिशो के अँधेरे है रोशन किये 
भर दो झोली मेरी धुनिवाले आज बनकर मै आया सवाली 

तुमसा नही एक भी सारे जहाँन में 
सर को झुकाती है दुनिया तेरी ही शान में 
अपने गुरु का तुमने कैसा मान कर दिया 
गुरु से बड़ा ना कोई है  सबको ये सिखा दिया 
जब हो गुरुकृपा तो गोविन्द भी मिले 
सूरज को देख तेरे जैसे अरविन्द भी मिल गए 
रस्ता है एक सब के लिए रब के द्वार का  
धुनिवाले तू अंश है परवरदिगार का 
तेरे दरबार की शान ऊँची खाली जाता नही कोई भी सवाली 
एक ही दाता है देनेवाला आया दरपे है लाखो सवाली 
भर दो झोली मेरी धुनिवाले आज बनकर मै आया सवाली 
भर दो झोली मेरी धुनिवाले आज बनकर मै आया सवाली 

दादाजी महाराज  धुनिवाले के भजन 

 Bhar Do Jholi Meri Dhuniwale Aaj Bankar Mai Aaya Sawali Dadaji Dhuniwale Ke Bhajan Lyrics In Hindi

Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics