मेरी माँ के जैसा कोई दरबार नहीं - Meri Maa Ke Jaisa Koi Darbar Nahi

मेरी माँ के जैसा कोई दरबार नहीं 

*शेर* 
तेरी कृपा से बगातो के रोशन हो रास्ते 
माँ तेरा ये दरबार यु ही सजा रहे 
भगतो पे बरसता रहे सदा माँ तेरा प्यार 
सर पर तेरा ये हाथ माँ यु ही बना रहे 

Meri Maa Ke Jaisa Koi Darbar Nahi 

दुनिया से बरोसा टूट गया किसी और पे अब एतबार नही 
मेरी माँ के जैसा कोई दरबार नहीं 

सारी दुनिया से बढ़कर के मैंने माँ के प्यार को जाना है 
तेरे चरणों में वो जादू है के झुकता सारा जमाना है 
मेरी माँ के जैसा कोई दरबार नहीं 

मैया तेरे दीवानों ने चौकी तेरी सजायी है 
ममता से भरी प्यारी मूरत भक्तो के मन को भाई है 
मै देखू जहा तक मेरी माँ तेरा अक्ष नजर आता है मुझे
नजरों का मेरी दोश नही मेरे मन में तू ही समायी है 
मेरी माँ के जैसा कोई दरबार नहीं 

तू साथ रहे किस बात का गम हिम्मत मेरी बढ़ जाती है 
तेरे दर पे सर को झुकाने से शौहरत मेरी बढ़ जाती है 
मेरी माँ के जैसा कोई दरबार नहीं 

यारो मौजी को होश कहा ये दुनिया से बेगाना है 
सारी दुनिया ये कहती है ये मैया का दिवाना है 
मेरी माँ के जैसा कोई दरबार नहीं 

Meri Maa Ke Jaisa Koi Darbar Nahi Devi Bhajan Lyrics In Hindi

Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics