हमने आंगन नही बहारा कैसे आयेंगे भगवान - Hum Ne Aangan Nahi Bahara kaise Aayenge Bhagwan

 Humne Aangan Nahi Bahara kaise Aayenge Bhagwan 

हमने आंगन नही बहारा चंचल मन को नही सहारा
कैसे आयेंगे भगवान कैसे आयेंगे भगवान

घर को नेकल मसकसाय की लगी हुयी है ढेरी
नही ज्ञान की किरण कही भी हर खोठरी अँधेरी
आंगन चौबारा अंधियारा कैसे आयेंगे भगवान
कैसे आयेंगे भगवान कैसे आयेंगे भगवान
हमने आंगन नही बहारा कैसे आयेंगे भगवान

ह्रदय हमारा पिघल ना पाया जब देखा दुखियारा
किसी पंथ भूले ने तुमसे पाया नही सहारा
सुखी है करुना की धारा कैसे आयेंगे भगवान
हमने आंगन नही बहारा चंचल मन को नही सहारा
कैसे आयेंगे भगवान कैसे आयेंगे भगवान

निर्मल मन हो तो रघुरायक शबरी के घर जाते
श्याम सुर की बाह पकड़कर साग भी धुरधर आये
इसपे तुमने नही बिचारा इस्पे हमने नही बिचारा
कैसे आयेंगे भगवान कैसे आयेंगे भगवान
हमने आंगन नही बहारा चंचल मन को नही सहारा
कैसे आयेंगे भगवान कैसे आयेंगे भगवान

 Hum Ne Angan Nahi Bahara kaise Aayenge Bhagwan  Bhajan Lyrics in Hindi






Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics