ना जी भर के देखा ना कुछ बात की भजन लिरिक्स - Na Ji Bhar Ke Dekha Na Kuch Baat Ki Bhajan Lyrics

ना जी भर के देखा ना कुछ बात की भजन लिरिक्स

ना जी भर के देखा ना कुछ बात की 
बड़ी आरजू थी मुलाकात की 
करो दृष्टि अब तुम प्रभु करुना की 
बड़ी आरजू थी मुलाकात की 

ना जी भर के देखा ना कुछ बात की 
बड़ी आरजू थी मुलाकात की 

जले आओ अब तो ओ प्यारे कन्हैया 
ये सुनी है कुंजन और व्याकुल है गईया 
सुना दो उइन्हें अब तो धुन मुरली की 
बड़ी आरजू थी मुलाकात की 

ना जी भर के देखा ना कुछ बात की 
बड़ी आरजू थी मुलाकात की 

हम बैठे है गम उनका दिल में ही पाले 
भला ऐसे में खुद को कैसे संभाले 
ना उनकी सुनी ना कुछ अपनी कही 
बड़ी आरजू थी मुलाकात की 

ना जी भर के देखा ना कुछ बात की 
बड़ी आरजू थी मुलाकात की 

तेरा मुस्कुराना भला कैसे भूले 
ओ कदमन की छाया ओ सावन के झूले 
ना कोयल कुकू ना पपीहा की पी 
बड़ी आरजू थी मुलाकात की 

ना जी भर के देखा ना कुछ बात की 
बड़ी आरजू थी मुलाकात की 

Na Ji Bhar Ke Dekha Na Kuch Baat Ki krishna  Bhajan Lyrics In Hindi 

Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics