ज्योत से ज्योत जगाते चलो प्रेम की गंगा बहाते चलो - Jyot Se Jyot Jagate Chalo Bhajan

ज्योत से ज्योत जगाते चलो प्रेम की गंगा बहाते चलो 

ज्योत से ज्योत जगाते चलो प्रेम की गंगा बहाते चलो 
राह में आये जो दिन दुखी सब को गले से लगाते चलो 

जिसका ना कोई संगी साथी ईश्वर है रखवाला 
जो निर्धन है जो निर्बल  है वो है सबका प्यारा 
प्यार के मोती लुटाते  चलो प्रेम की गंगा बहाते चलो 
ज्योत से ज्योत जगाते चलो प्रेम की गंगा बहाते चलो 

आशा टूटी ममता रूठी टूट गया है किनारा 
बंद करो मत द्वार दया का दे दो नाथ सहारा 
दीप दया का जलाते चलो प्रेम की गंगा बहाते चलो 
ज्योत से ज्योत जगाते चलो प्रेम की गंगा बहाते चलो 

कौन है ऊँचा कौन है निचा सबमे वही है समाया 
भेद-भाव के झूठे भरम में ये मानव भरमाया 
धर्म ध्वजा फहराते चलो प्रेम की गंगा बहाते चलो 
ज्योत से ज्योत जगाते चलो प्रेम की गंगा बहाते चलो 

सारे जग के कण कण में है दिव्य अमर एक आत्मा 
एक ब्रम्ह है एक सत्य है एक ही है परमात्मा 
प्राण से प्राण मिलाते चलो प्रेम की गंगा बहाते चलो 
ज्योत से ज्योत जगाते चलो प्रेम की गंगा बहाते चलो 

ज्योत से ज्योत जगाते चलो प्रेम की गंगा बहाते चलो 
राह में आये जो दिन दुखी सब को गले से लगाते चलो

ज्योत से ज्योत जगाते चलो प्रेम की गंगा बहाते चलो भजन लिरिक्स इन हिंदी 
 Jyot Se Jyot Jagate Chalo prem ki Ganga Bahate chalo Bhajan lyrics in hindi

Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics