ओं मेरे मोहन तेरा मुस्कुराना भूल जाने के काबिल नहीं है- Mere Mohan Tera Muskurana Bhajan

ओं मेरे मोहन तेरा मुस्कुराना

ओं मेरे कान्हा तेरा मुस्कुराना
भूल जाने के काबिल नहीं है

चोट खायी है  दिलपे ये मैंने
वो दिखने के काबिल नहीं है

मेरे मोहन तेरा मुस्कुराना
भूल जाने के काबिल नहीं है

जबसे देखा है जलवा तुम्हारा
कोई आँखों में जचता नहीं है
यूं तो देखे बहुत नूर वाले
सारे आलम में तुमसा नहीं है

मेरे मोहन तेरा मुस्कुराना
भूल जाने के काबिल नहीं है

तेरी सूरत पे क़ुर्बान जाऊ
तेरी आँखे है या मैं के प्याले
जिनको नज़रो से तुमने पिलाई
होश आने के काबिल नहीं है

मेरे मोहन तेरा मुस्कुराना
भूल जाने के काबिल नहीं है

मैंने पूछा की अब कब मिलोगे
पहले मुस्काये फिर हंस के बोले
सबके दिल में समाये हुए है
आने जाने के काबिल नहीं है

मेरे मोहन तेरा मुस्कुराना
भूल जाने के काबिल नहीं है

मेरे मोहन तेरा मुस्कुराना
भूल जाने के काबिल नहीं है
चोट खायी है जो मैंने दिल में

वो दिखने के काबिल नहीं है

ओं मेरे मोहन तेरा मुस्कुराना भूल जाने के काबिल नहीं है भजन लिरिक्स हिंदी 
Mere Mohan Tera Muskurana Bhul Jane Ke Kabil Nahi Hai Bhajan lyrics in hindi

Singer- Devi Chitralekha ji

Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics