भगवान तुम्हे मै ख़त लिखती पर पता मुझे मालूम नही लिरिक्स - Bhagwan Tumhe Mai Khat Likhti Par Pata Mujhe Malum Nahi lyrics

भगवान तुम्हे मै ख़त लिखती पर पता मुझे मालूम नही लिरिक्स 

भगवान तुम्हे मै ख़त लिखती
पर पता मुझे मालूम नही

सूरज से पूछा चंदा से पूछा
पूछा टीम टीम तारो से
इन सब ने कहा अम्बर में है
पर पता मुझे मालूम नही
भगवान तुम्हे मै ख़त लिखती
पर पता मुझे मालूम नही

फूलो से पूछा कलियों से पूछा
पूछा बाग़ के माली से
इन सब ने कहा हर डाल पे है
पर पता मुझे मालूम नही
भगवान तुम्हे मै ख़त लिखती
पर पता मुझे मालूम नही

नदियों  से पूछा लहरों से पूछा
पूछा बहते झरनों से
झरनों ने कहा सागर में है
पर पता मुझे मालूम नही
भगवान तुम्हे मै ख़त लिखती
पर पता मुझे मालूम नही

साधू से पूछा संतो से पूछा
पूछा दुनिया के लोगो से
इन सब  ने कहा सागर में है
पर पता मुझे मालूम नही
भगवान तुम्हे मै ख़त लिखती
पर पता मुझे मालूम नही

भगवान तुम्हे मै ख़त लिखती पर पता मुझे मालूम नही भजन लिरिक्स हिंदी 
- Bhagwan Tumhe Mai Khat Likhti Par Pata Mujhe Malum Nahi bhajan lyrics hindi 

Bhakti Bhajan Song 2020- BHAGWAN TUMHE MAIN KHAT LIKHTI PAR PATA MUJHE MALOOM NAHI (With Lyrics)

Song Info :  -
Title - Bhagwan Tumhe Main Khat Likhti Bhajan
Singer - Meenakshi Mukesh
Music - Rinku Gujral

Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics