जय हो जय जय है गौरी नंदन गणेश आरती लिरिक्स - jai Ho Jai Jai Hai Gauri Nandan Ganesh Aarti Lyrics

जय हो जय जय है गौरी नंदन गणेश आरती लिरिक्स

जय हो जय जय है गौरी नंदन 
देवा गणेशा गजानन 
चरणों को तेरे हम पखारते 
हो देवा आरती तेरी हम उतारते 

शुभ कार्यो में सबसे पहले 
तेरा पूजन करते 
विघ्न हटाते काज बनाते 
सभी अमंगल हरते 
ओ देवा सिद्धि और सिद्धि बाटे 
चुनते राहो के काटे 
खुशियों के रंग को बिखारते 
हो देवा आरती तेरी हम उतारते 

ओमकार  है रूप तिहारा 
अलौकिक है माया 
लम्ब कर्ण तेरे उज्जवल नैना 
धुम्रवर्ण है काया 
ओम्हर है रूप तिहारा 
अलौकिक है माया 
ओ देवा शम्भू के लाल दुलारे 
संतो के नैनन तारे 
मस्तक पे चन्द्रमा को वारते
हो देवा आरती तेरी हम उतारते 

गणपति बाप्पा घर में आना 
सुख वैभव कर जाना 
एक दन्त लम्बोदर स्वामी 
सारे कष्ट मिटाना 
गणपति बाप्पा घर में  आना 
सुख वैभव बरसाना 
देवा लडूअन का भोग लगाते 
मूषक वहानपे आते 
भक्तो की बिगड़ी संवारते 
हो देवा आरती तेरी हम उतारते 

धन कुबेर चरणों के चाकर 
लक्ष्मी संग विराजे 
दसो दिशा नवखण्ड में देवा 
डंका तेरा बाजे 
देवा तुझमे ध्यान लगाये 
मन चाहा फल वो पाए 
नैया भवंर से उबारते 
हो देवा आरती तेरी हम उतारते 

बांझो की गोदे भर देना 
निर्धन को धन देना 
दिनों  को सन्मान दिलाना 
निर्बल को बाल देना 
ओ देवा सुनलो अरदास हमारी 
विनती करते नर नारी 
सेवा में तन मन वारते 
हो देवा आरती तेरी हम उतारते 

जय हो जय जय है गौरी नंदन 
देवा गणेशा गजानन 
चरणों को तेरे हम पखारते 
हो देवा आरती तेरी हम उतारते 

जय हो जय जय है गौरी नंदन गणेश आरती लिरिक्स 

jai Ho Jai Jai Hai Gauri Nandan Ganesh Aarti Lyrics 

Song:  jai Ho Jai Jai Hai Gauri Nandan

Singer: Pamela Jain 

ऐसे ही सुन्दर भजन आप यहां पर देख सखते है



Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics