सावन की रुत है आजा माँ हम झूला तुझे झुलाएंगे भजन लिरिक्स - Sawan Ki Rut Hai Aaja Ma Hum Jhula Tujhe Jhulayenge Bhajan Lyrics

सावन की रुत है आजा माँ हम झूला तुझे झुलाएंगे भजन लिरिक्स


सावन की रुत है आजा माँ,
हम झूला तुझे झुलाएंगे ,
फूलो से सजाएंगे तुझको 
मेहँदी हाथो में लगाएंगे,

कोई भेट करे गा चुनरी 
कोई पहनायेगा चूड़ी,
माथे पे लगाएगा माँ 
कोई भक्त तिलक सिंदूरी,
कोई लिए खड़ा है पायल 
लाया है कोई कंगना,
जिन राहो से आएंगे 
माँ तू भक्तो के अंगना,
हम पलके वहा बिछायेंगे,
सावन की रुत है आजा माँ...

माँ अम्बा की डाली पे 
झूला भक्तो ने सजाया,
चन्दन की विशाई चौंकी 
श्रदा से तुझे भुलाया,
अब छोड़ दे आँख मिचोली  
आजा ओ मैया भोली,
हम तरस रहे है कब से 
सुन ने को तेरी बोली,
सावन की रुत है आजा माँ...

लाखो हो रूप माँ तेरे 
चाहे जिस रूप में आजा,
नैनो की प्यास भुजा जा 
बस इक झलक दिखला जा,
झूले पे तुझे बिठा के 
तुझे दिल का हाल सुना के,
फिर मेवे और मिश्री का 
तुझे प्रेम से भोग लगा के,
तेरे भवन पे छोड़ के आएंगे ,
सावन की रुत है आजा माँ...

सावन की रुत है आजा माँ हम झूला तुझे झुलाएंगे भजन लिरिक्स हिंदी 
Sawan Ki Rut Hai Aaja Ma Hum Jhula Tujhe Jhulayenge Bhajan Lyrics Hindi
watch  Superhit Navratri  Special Devi Bhakti Bhajan Video Song With Lyrics 

Bhajan: Sawan Ki Rut Hai 
Singer: Sonu Nigam 
Lyricist: Naks Rayalpuri, Ravi Chopra

Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics