वो है जग से बेमिसाल सखी भजन लिरिक्स - Wo Hai Jag Se Bemisal Sakhi Bhajan Lyrics Hindi

वो है जग से बेमिसाल सखी भजन लिरिक्स


*शेर *
1.कोई कमी नहि है दर मैया के जाके देख, 
   देगी तुझे दर्शन मैया तू सिर को झुका के देख,

2. अगर आज माना है तो आजमा के देख 
   पल मेी भरेगी झोली तू झोली फेला के देख

वो है जग से बेमिसाल सखी, 
माँ शेरोवाली कमाल सखी,
री तुझे क्या बतलाऊँ,
वो है कितनी दीनदयाल 
सखी रे तुझे क्या बतलाऊँ, 
तुझे क्या बतलाऊँ,

जो सच्चे दिल से द्वार मैया के जात है 
वो  मूह माँगा वर जगजननी से पाता है,
फिर रहे  ना वो कंगाल सखी 
हो जाए मालामाल सखी 
सखी री तुझे क्या बतलाऊँ,
वो है कितनी दीनदयाल 
सखी रे तुझे क्या बतलाऊँ, 
तुझे क्या बतलाऊँ,

माँ पल पल करती 
अपने भक्तो की रखवाली, 
दुख रोग हरे इक पल में माँ शेरोवाली,
करे पूरे सभी सवाल सखी, 
बस मन से भरम निकाल सखी 
सखी री तुझे क्या बतलाऊँ,
वो है कितनी दीनदयाल 
सखी रे तुझे क्या बतलाऊँ, 
तुझे क्या बतलाऊँ,

मा भरदे खाली गोद के आंगन भर दे रे , 
ख़ुशीयो के लगादे ढेर सुहागन कर दे रे,
माँओको देती लाल सखी 
रहने दे ना कोई मलाल सखी 
सखी री तुझे क्या बतलाऊँ,
वो है कितनी दीनदयाल 
सखी रे तुझे क्या बतलाऊँ, 
तुझे क्या बतलाऊँ,

हर कमी करे पूरी माँ अपने प्यारो की 
लंबी है कहानी मैया के उपकारो की,
देती है मुसीबत टाल सखी 
कहा जाए ना सारा हाल सखी 
सखी री तुझे क्या बतलाऊँ,
वो है कितनी दीनदयाल 
सखी रे तुझे क्या बतलाऊँ, 
तुझे क्या बतलाऊँ,

वो है जग से बेमिसाल सखी भजन लिरिक्स 
Wo Hai Jag Se Bemisal Sakhi Bhajan Lyrics Hindi
Song Name: Woh Hain Jag Se Bemisaal 
Singer: Lakhbir Singh Lakha

Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics