दूर नगरी रे बड़ी दूर नगरी भजन लिरिक्स - Dur Nagari Re Badi Dur Nagari Bhajan Lyrics

दूर नगरी रे बड़ी दूर नगरी भजन लिरिक्स

दूर नगरी रे बड़ी दूर नगरी
कैसे आऊं मैं कन्हैया
तेरी गोकुल नगरी
बड़ी दूर नगरी

रात में आऊं तो कान्हा, 
डर मोहे लागे
दिन में आऊं तो,
देखे सारी नगरी
बड़ी दूर नगरी

सखी संग आऊं कान्हा, 
शर्म मोहे लागे
अकेली आऊं तो 
भूल जाऊ डगरी
बड़ी दूर नगरी

धीरे धीरे चालूँ कान्हा, 
कमर मोरी लचके
झटपट चालूँ तो 
छलकाए गगरी
बड़ी दूर नगरी

दूर नगरी रे बड़ी दूर नगरी
कैसे आऊं मैं कन्हैया
तेरी गोकुल नगरी
बड़ी दूर नगरी

Song : Dur Nagri Re Badi Dur Nagri 
Album : Ram Bharosho 
Singer : Master Rana
दूर नगरी रे बड़ी दूर नगरी भजन लिरिक्स 
Dur Nagari Re Badi Dur Nagari Bhajan Lyrics hindi

Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics