यशोदा का नंदलाला ब्रिज का उजाला हैं लिरिक्स - Yashoda Ka Nandlala Brij Ka Ujala Hai Lyrics

यशोदा का नंदलाला ब्रिज का उजाला हैं लिरिक्स

यशोदा का नंदलाला, 
ब्रिज का उजाला हैं
मेरे लाल से तो सारा, 
जग झीलमिलाए

रात ठंडी ठंडी हवा गा के सुलाए
भोर गुलाबी पलके झूम के जगाए
यशोदा का नंदलाला...

सोते सोते गहरी नींद में 
मुन्ना क्यू मुस्काये
पुछो मुझसे मैं जानू 
इसको क्या सपना आए
जुग जुग से ये लाल है अपना 
हर पल देखे बस यही सपना
जूजू जूजू जू....
जब भी जनम ले मेरी गोद में आए
मेरे लाल से तो सारा जग झील मिलाए
यशोदा का नंदलाला...

मेरी उंगली थाम के जब ये 
घर आँगन में डोले
मेरे मन में सोई सोई 
ममता आँखे खोले
चुपके चुपके मुझको देखे  
जैसे ये मेरे मन में झाँके
जूजू जूजू जू....
चेहरे से आँखे नहीं हटती हटाए
मेरे लाल से तो सारा जग झील मिलाए

रात ठंडी ठंडी हवा, गा के सुलाए
भोर गुलाबी पलके, झूम के जगाए
यशोदा का नंदलाला...

यशोदा का नंदलाला गाने के बोल हिंदी में
Yashoda ka Nandlala By Lata Mangeskar Lyrics in Hindi
Song: Yashoda Ka Nadlala
Movie: Sanjog
Singer:Lata Mangeshkar
Lyricist: Anjaan

Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics