पर्दे के पीछे जो पर्दा नशीं है भजन लिरिक्स -Parde Ke piche Parda Nashi Bhajan Lyrics

पर्दे के पीछे जो पर्दा नशीं है

पर्दे के पीछे जो पर्दा नशीं है ,
मेरा सांवरा है वो मुझको यकीं है ,

पर्दे में रहने की आदत पड़ी है,
रुलाने की जाने की आदत पड़ी है,
दिल लूटने का बड़ा ही शौकीन की है .. 
पर्दे के पीछे जो

तलबगार है उसका सारा जमाना
कोई उसका पागल है कोई है दीवाना
जलवा ये दीदार जोहरे जमी है 
 पर्दे के पीछे जो

हर कोई बैठा है पलके बिछाए,
कब बाहर आए वो कब बाहर आए,
आएगा बाहर वो यही है कहीं है .. 
पर्दे के पीछे जो

बढ़ती 'मधुप' जब दिल ए बेकरारी,
आता है बाहर हो बांके बिहारी,
रंगीला रसीला हो बड़ा ही हंसी है .. 
पर्दे के पीछे जो



पर्दे के पीछे जो पर्दा नशीं है भजन लिरिक्स -
Parde Ke piche Parda Nashi Bhajan Lyrics hindi
Singer Name: बाबा श्री चित्र विचित्र जी महाराज

Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics