अम्बे रानी तेरा झुलना रे लिरिक्स- Ambe Rani Tera Jhulna Re Lyrics

अम्बे रानी तेरा झुलना रे लिरिक्स

झुला झुला रहे द्वारे लंगुरवा 
अम्बे रानी तेरा झुलना रे
मिल के सजाये रहे सारे भगत्वा
अम्बे रानी तेरा झुलना रे

शेरो वाली रानी का दुर्गे महारानी का 
न्यारा है झुलना
जो भी यहाँ आता है सबसे बताता है 
प्यारा है झुलना
उची पहाड़िया भक्त जो आये 
माता दरस कर खुश हो जाये
अम्बे रानी तेरा झुलना रे

जग जगनी जग दम्बे का 
मैय्या रानी अम्बे का 
देखो तो झुलना
यहाँ उचे पर्वत पे बिन्द्वाए बिन अम्बे का 
देखो तो झुलना
विश्वकर्मा ने दियो बनाये 
हर भक्तो ने लियो सजाये
अम्बे रानी तेरा झूलन रे

तारे धुन में बांधे है 
रेशम डोरी प्यारी है 
एसो है झुलना
मैय्या जी के झूले की 
शोभा बड़ी न्यारी है 
एसो है झुलना
कितने सितारे इसमे लगाये 
दूर तलक ये हजन मिलाये
अम्बे रानी तेरा झुलना रे

लंगुरे झुलाये माँ 
सखिया मगल गाये माँ 
पावन है झुलना
यहाँ न रतन आये जो 
जीवन धन बनाये जो 
पावन है झुलना
पावन के संग माँ इत उत डोले 
थम थम के ये ले हिचकोले 
अम्बे रानी तेरो झुलना रे

अम्बे रानी तेरा झुलना रे लिरिक्स- Ambe Rani Tera Jhulna Re Lyrics

Song

Ambe Rani Tera Jhulna Re

Singer

-  SHAHNAZ AKHTAR

Lyrics

-  SHAHNAZ AKHTAR

Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics