मैं बालक तू माता लिरिक्स - Mai Balak Tu Mata Lyrics

मैं बालक तू माता लिरिक्स

तोह क्या जो ये पीड़ा का पर्वत
रास्ता रोके खड़ा है
तेरी ममता जिसका बल वो
कब दुनिया से डरा है

हिम्मत मैं क्यों हारु मैया
हिम्मत मैं क्यों हारु मैया
सर पे हाथ तेरा है

तेरी लगन में मगन मैं नाचू
गायु तेरा जगराता
मैं बालक तू माता शेरा वालिये
है अटूट यह नाता शेरा वालिये

हो ओ

हो मैं बालक तू माता शेरावालिये
है अटूट यह नाता शेरावालिये
शेरा वालिये माँ पहाड़ा वालिये माँ
जोटा वालिये माँ मेहरा वालिये माँ

मैं बालक तू माता शेरा वालिये
है अटूट यह नाता शेरा वालिये
बिन बाटी बिन दिया तू कैसे
काटे घोर अँधेरा
बिन सूरज तू कैसे करदे
अंतर्मन में सवेरा

बिन धागों के कैसे जुड़ा है
बिन धागों के कैसे जुड़ा है
बंधन तेरा मेरा

तू समझे या मैं समझू
कोई और समझ नहीं पता
बालक तू माता शेरावालिये
है अटूट यह नाता शेरावालिये
शेरा वालिये माँ पहाड़ा वालिये माँ
जोटा वालिये माँ मेहरा वालिये माँ

मैं बालक तू माता शेरावालिये
है अटूट यह नाता शेरावालिये

मैं बालक तू माता लिरिक्स - Mai Balak Tu Mata Lyrics
Bhakti Bhajan Song Details

 Song  :- Mai Balak Tu Mata

 Singer:- Jubin Nautiyal

 Lyric  :-  Manoj Muntashir

Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics