मेरी भी अरज सुन ले लिरिक्स - Meri Bhi Aaraj Sun Lo Lyrics

मेरी भी अरज सुन ले लिरिक्स

दरबार तेरा मुझ से कभी छुट नहीं सकता
तुम जिसको न चाहो वो कभी उठ नहीं सकता
लुट जाये जो अगर तेरे दरबार में मैय्या
दुनिया के लुटेरो से कभी लुट सकता

मेरी भी अरज सुन ले 
दुनिया की सुनने ने वाली
तेरे दर पे आ गई हु 
जाऊ न हाथ खाली
मेरी भी अरज सुन ले 
दुनिया की सुनने वाली

दौलत न माल दे माँ
कौहर न लाल दे माँ
चरणों का फुल मेरी
झोली में डाल दे माँ
मेरी भी लाज रख ले 
दुनिया की रखने वाली
मेरी भी अरज सुन ले ....

हम तेरा नाम लेकर 
बड़ते ही जा रहे है
हम को मिटाने वाले 
खुद मुह की खा रहे है
हर दम है साथ मेरे 
मेंरी मैय्या शेरोवाली
मेरी भी अरज सुनले....

दुनिया की ठोकरे रे 
अब खाना नहीं ग्वारा
चौखट पे तेरी मेरा
होता रहे गुजारा
एक मै ही क्या ये दुनिया 
तेरे दर की है सवाली
मेरी भी अरज सुन ले .....

मेरी भी अरज सुन ले लिरिक्स -  Meri Bhi Aaraj Sun Lo Lyrics 


Bhakti Bhajan Song Details

 Song  :- Meri Bhi Aaraj Sun Lo

 Singer:- Shahnaaz Akhtar

 Lyric  :- Shakeel Ahmed

Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics