सारे जग में मैय्या सा दरबार नहीं लिरिक्स - Sare Jag Me Maiya Sa Darbar Nahi Lyrics

सारे जग में मैय्या सा दरबार नहीं लिरिक्स

फ़िल्मी तर्ज - दुल्हे का सेहरा सुहाना लगता है 

दरबार तेरा दरबारों में
एक खास एहमियत रखता है
ओर उसको वैसा मिलता है
जो जैसी नियत रखता है


सारे जग में मैय्या सा दरबार नहीं
मैय्या जैसा कोई भी दातार नहीं

जिसने जोड़ा माँ से नाता 
बन गई उसकी भाग्य विधाता
ओर किसी की पड़त उसे दरकार नहीं 
मैय्या जैसा कोई भी दातार नहीं

झूम के गाओ भक्तो 
ये मौका रोज रोज नहीं आता
रोज रोज नहीं आता मौका
रोज रोज नहीं आता मौका

नागिन धुन 
आता तरी देवा मला पावशील का धुन 

पल्लो लटके रे म्हारो पल्लो लटके
जरा सा जरा जरा सा जरा
जरा सा जरा सिधो हो जा सावरिया 
मारो पल्लो लटके

थोडी सी नहीं ज्यादा मेहर चाहिए
तुम्हारी दया की नजर चाहिए
दीवाने है दिवानो को ना घर चाहिए
तुम्हारी दया की मेहर चाहिए


Bhakti Bhajan Song Details

 Song  :- Sare Jag Me Maiya Sa Darbar Nahi

 Singer:- Juli Singh

 Lyric  :-  Anjali Mishra

Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics