मत कर तू अभिमान रे बन्दे लिरिक्स - Mat Kar Tu Abhiman Re Bande lyrics

मत कर तू अभिमान रे बन्दे लिरिक्स

मत कर तू अभिमान रे बन्दे
झूठी तेरी शान रे मत कर तू अभिमान

तेरे जैसे लाखो आये लाखो इस माटी ने खाये
रहा न नाम निशान ओ बन्दे मत कर तू अभिमान
मत कर तू अभिमान रे.....

झूठी माया झूठी काया वो तेरा जो हरिगुण गाया
जब ले हरी का नाम ओ बन्दे मत कर तू अभिमान
मत कर तू अभिमान रे.....

माया का अन्धकार निराला बाहर उज्जला भीतर काला
इसको तु पेहचान रे बन्दे मत कर तू अभिमान
मत कर तू अभिमान रे .....

तेर पास हैं हिरे मोती मेरे मन मंदिर में ज्योति
कौन हुवा धनवान रे बन्दे मत कर तू अभिमान
मत कर तू अभिमान रे..........

Bhakti Bhajan Song Details

 Song  :-  Mat Kar Tu Abhiman Re Bande

 Singer:- 

 Lyric  :-  

Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

कृष्ण भजन लिरिक्स - Krishna Bhajan Lyrics

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan