हम श्याम के प्रेमी हैं हम श्याम पे मरते हैं लिरिक्स - Hum Shyam Ke Premi Hai Hum Shyam Pe Marte Hai Lyrics

हम श्याम के प्रेमी हैं हम श्याम पे मरते हैं लिरिक्स

हम श्याम के प्रेमी हैं हम श्याम पे मरते हैं
हम इनके भरोसे ही हर काम करते हैं
हम श्याम के प्रेमी हैं हम श्याम पे मरते हैं  

दुनिया ज़माने को बस ये बात खल रही है
पतवार के बिना ही मेरी नाव चल रही है
वो जितना जलते हैं हम उतना निखरते हैं
हम श्याम के प्रेमी हैं हम श्याम पे मरते हैं

मेरे बोलने से पहले मेरा काम हो रहा है
मेरी हैसियत से ज़्यादा मेरा नाम हो रहा है
हम इनकी गोदी में आराम करते हैं
हम श्याम के प्रेमी हैं हम श्याम पे मरते हैं

हैं श्याम की बदौलत हर भोर ज़िन्दगी की
इनके ही हाथ में है अब डोर ज़िन्दगी की
मेरी साँसों की किश्तें मेरे श्याम भरते हैं
हम श्याम के प्रेमी हैं हम श्याम पे मरते हैं

है श्याम आसरे पर अपनी ये ज़िंदगानी
आगाज़ भी इसी से इस पर ख़त्म कहानी
सोनू जीवन अपना इनके नाम करते हैं
हम श्याम के प्रेमी हैं हम श्याम पे मरते हैं

Bhakti Bhajan Song Details

 Song  :-  Hum Shyam Ke Premi Hai Hum Shyam Pe Marte Hai

 Singer:-  Gudiya Vibha Mishra

 Lyrics  :-  Aadiya Modi (Sonu)


Comments

Popular posts from this blog

कृष्ण भगवान के भजन लिरिक्स - Krishna Bhajan Lyrics

गणेश जी के भजन लिरिक्स -Ganesh Ji ke Bhajan Lyrics ( Ganpati Ji Ke bhajan lyrics ) Bhajan List

शिव जी के भजन लिरिक्स - Shiv Ji ke Bhajan lyrics ( Bhole Nath ke Bhajan List )