महाकाल की कृपा से संसार चल रहा है लिरिक्स - Mahakal Ki Kripa Se Sansar Chal Raha Hai Lyrics

महाकाल की कृपा से संसार चल रहा है लिरिक्स

दोहा महाकाल की मोहब्बत का,
असर देख रहा हूँ,
जन्नत ये तेरा लगता है शहर,
देख रहा हूँ,
मेरे महाकाल बाबा,
हम सब आए तेरे द्वार पर,
सब पर तेरी रहमत की नज़र,
देख रहा हूँ।


महाकाल की कृपा से,
संसार चल रहा है,
किस्मत में जो नहीं था,
किस्मत में जो नहीं था,
वो भी हमें मिला है,
महांकाल की कृपा से,
संसार चल रहा है।।

उज्जैन के हो राजा,
रखते हो लाज सबकी,
आओ ऐ भक्तो आओ,
आओ ऐ भक्तो आओ,
बाबा का दर खुला है,
महांकाल की कृपा से,
संसार चल रहा है।।

तेरे दर के हम भिखारी,
तुम हो हमारे दाता,
इक आस लेके मन में,
इक आस लेके मन में,
द्वारे तेरे खड़े है,
महांकाल की कृपा से,
संसार चल रहा है।।

महांकाल की कृपा से,
संसार चल रहा है,
किस्मत में जो नहीं था,
किस्मत में जो नहीं था,
वो भी हमें मिला है,
महांकाल की कृपा से,
संसार चल रहा है।।

Bhakti Bhajan Song Details

 Song  :-   Mahakal Ki Kripa Se Sansar Chal Raha Hai 

 Singer:-  Kishan Bhagat

 Lyrics  :-  Kishan Bhagat


Comments

Popular posts from this blog

कृष्ण भगवान के भजन लिरिक्स - Krishna Bhajan Lyrics

गणेश जी के भजन लिरिक्स -Ganesh Ji ke Bhajan Lyrics ( Ganpati Ji Ke bhajan lyrics ) Bhajan List

शिव जी के भजन लिरिक्स - Shiv Ji ke Bhajan lyrics ( Bhole Nath ke Bhajan List )