मन माखन मेरो चुराय गयो री लिरिक्स - Man Makhan Mero Churai Gayo Ri Lyrics

मन माखन मेरो चुराय गयो री लिरिक्स

मन माखन मेरो चुराय गयो री,
प्यारों प्यारों मोहन,
मीठों मीठों मोहन,
मन माखन मेरो चुराय गयो री, 
प्यारो प्यारो मोहन,

नैनों से बात करे और 
मुख से कुछ ना बोले
जब जब बोले 
मीठा मीठा बोले 
कान में अमृत घोले,
ये तो सौ सौ तीर चलाये गया रे,
प्यारो प्यारो मोहन,
मन माखन मेरो चुराय गयो री, 
प्यारो प्यारो मोहन,

बहुत रंगीलो बहुत छबीलों 
बहु अनुरागी है मोहन,
चंचल चपल यो रमणी रमता, 
गोपी वल्लभ मोहन,
यो तो भक्ता को चित्त चुराय गयो री, 
प्यारो प्यारो मोहन,
मन माखन मेरो चुराय गयो री, 
प्यारो प्यारो मोहन,

सुन्दर श्याम कमल गल लोचन 
दुःख मोचन यो है ब्रिज राज,
यहां पे आके ऐसे बिराजे 
जैसे इनको ही राज,
यो तो नैना से दिल में समाय गयो री ,
प्यारो प्यारो मोहन,
मन माख़न मेरो चुराए गया री 
प्यारो प्यारो मोहन,

Bhakti Bhajan Song Details

 Song  :- Man Makhan Mero Churai Gayo Ri

 Singer:-   Jaya Kishori ji

 Lyrics  :- 

Comments

नये भजन आप यहाँ से देख सकते है

Show more

Popular posts from this blog

कृष्ण भगवान के भजन लिरिक्स - Krishna Bhajan Lyrics

माता रानी के भजन लिरिक्स - Mata Rani Bhajan List - नवरात्रि स्पेशल देवी भजन लिस्ट

गणेश जी के भजन लिरिक्स - Ganesh Ji ke Bhajan Lyrics ( Ganpati Ji Ke bhajan lyrics ) Bhajan List