भाव के भूखे हैं भगवान लिरिक्स - Bhav Ke Bhukhe Hai Bhagwan Lyrics

भाव के भूखे हैं भगवान लिरिक्स

भाव के भूखे हैं भगवान
भाव के भूखे हैं भगवान
भाव नहीं तो कुछ भी नहीं है 
भाव नहीं तो कुछ भी नहीं है 
लाख करो गुणगान 

एक थी शबरी भक्तन 
न्योछावर करके तनमन 
मतंग मुनि के संग में 
करती थी प्रभु का कीर्तन 
बागो से चुन चुन लाती 
प्रभु को फुल चढ़ाती 
गंगा के पावन जल से 
रोज स्नान कराती 
चरण धोके श्री राम का करती 
चरण धोके श्री राम का करती
चरनामृत का पान
भाव के भूखे हैं भगवान

मतंग शबरी को बताये 
बहु भांति समझाए 
सबर कर कुछ दिन शबरी 
मिलन के दिन अब आये 
रामजी तुमसे मिलेंगे 
मेरी कुटिया में आ कर 
शबरी को धैर्य बंधाकर 
समाधी लिए गुरुवर
राम नाम में लीन हो गयी 
गुरु से पाकर ज्ञान 
भाव के भूखे हैं भगवान

Bhakti Bhajan Song Details

 Song  :- Bhav Ke Bhukhe Hai Bhagwan

 Singer:- ravi raj

 Lyrics  :- Sanjay Tiwari


टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें

नये भजन आप यहाँ से देख सकते है

ज़्यादा दिखाएं

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

माता रानी के भजन लिरिक्स - Mata Rani Bhajan List - नवरात्रि स्पेशल देवी भजन लिस्ट

शिव जी के भजन लिरिक्स - Shiv Ji ke Bhajan lyrics ( Bhole Nath ke Bhajan List )

गणेश जी के भजन लिरिक्स - Ganesh Ji ke Bhajan Lyrics ( Ganpati Ji Ke bhajan lyrics ) Bhajan List