दर्द किसको दिखाऊं कन्हैयाँ लिरिक्स - Dard Kisko Dikhau Kanhaiya Lyrics

दर्द किसको दिखाऊं कन्हैयाँ लिरिक्स

दर्द किसको दिखाऊं कन्हैयाँ,
श्याम, श्याम मेरे श्याम,
कोई हमदर्द तुमसा नहीं है,
दुनियाँ वाले नमक है छिड़कते,
कोई मरहम लगाता नहीं हैं,
दर्द किसको दिखाऊँ कन्हैयाँ,
कोई हमदर्द तुमसा नहीं है।

किसको बैरी कहूँ किसको अपना,
झूठें वादे है सारे ये सपना,
अब तो कहने में आती शर्म हैं,
रिश्ते नाते ये सारे भरम हैं,
देख ख़ुशियाँ मेरी जिंदगी की,
रास अपनों को आती नहीं है,
दर्द किसको दिखाऊँ कन्हैयाँ,
कोई हमदर्द तुमसा नहीं है।

ठोकरों पर है ठोकर खाया,
जब भी दिल दुसरो से लगाया,
हर कदम पे है सबने गिराया,
सबने स्वार्थ का रिश्ता निभाया,
तुझसे नैनां लड़ाना कन्हैया,
दुनिया वालो को भाता नहीं है,
दर्द किसको दिखाऊँ कन्हैयाँ,
कोई हमदर्द तुमसा नहीं है।

दर्द किसको दिखाऊँ कन्हैयाँ,
कोई हमदर्द तुमसा नहीं है,
दुनिया वाले नमक है छिड़कते,
कोई मरहम लगाता नहीं है,
दर्द किसको दिखाऊँ कन्हैयाँ,
कोई हमदर्द तुमसा नहीं है।

bhakti Bhajan Song Details

 Song  :- Dard Kisko Dikhau Kanhaiya

 Singer:- Raju Singh Anuragi 

 Lyrics  :- Raju Singh Anuragi 


Comments

Popular posts from this blog

कृष्ण भगवान के भजन लिरिक्स - Krishna Bhajan Lyrics

गणेश जी के भजन लिरिक्स -Ganesh Ji ke Bhajan Lyrics ( Ganpati Ji Ke bhajan lyrics ) Bhajan List

शिव जी के भजन लिरिक्स - Shiv Ji ke Bhajan lyrics ( Bhole Nath ke Bhajan List )