फागण का नज़ारा है लिरिक्स - Fagan Ka Najara Hai Lyrics

फागण का नज़ारा है लिरिक्स

फागण का नज़ारा है ,
आयी है खाटु से चिट्ठियाँ, 
श्याम बाबा ने पुकारा है ।

हमने सुना है फागण में मेला लगता है भारी
दूर दूर तक है चर्चा मेले की महिमा न्यारी
जो एक बर जाता है , 
आता तो है लेकिन दिल हार के आता है ।

लाखों लाखों निशान लिए , चलते है सब मतवारे
सारे रस्ते गूँजते है, श्याम नाम के जय कारे
सुन सुन के उछलता है , 
प्रेमी से मिलने को ये खुद भी मचलता है ।

राज उसे जब प्रेमी की यादें बहुत सताती है
मोड़ता है रुख़ बादल का और फागण रुत आती है
फागण के बहाने से , 
मन को सुकून मिले खाटु में जाने से 


Bhakti Bhajan Song Details

 Song  :- Fagan Ka Najara Hai

 Singer:-  Raj Pareek

 Lyrics  :-  Raj Pareek


Comments

Popular posts from this blog

कृष्ण भगवान के भजन लिरिक्स - Krishna Bhajan Lyrics

गणेश जी के भजन लिरिक्स -Ganesh Ji ke Bhajan Lyrics ( Ganpati Ji Ke bhajan lyrics ) Bhajan List

शिव जी के भजन लिरिक्स - Shiv Ji ke Bhajan lyrics ( Bhole Nath ke Bhajan List )