शिवजी बिहाने चले पालकी सजाई के लिरिक्स - Shivji Bihane Chale Palaki Sajai Ke Lyrics

शिवजी बिहाने चले पालकी सजाई के लिरिक्स

शिवजी बिहाने चले पालकी सजाई के 
भभूति रमाय के हो राम 
संग संग बाराती चले
ढोलवा बजाय के घोडा दौडाई के हो राम 

विष्णु जी और लक्ष्मी जी तो 
गरुड़ के ऊपर चढ़ आये 
दाड़ी वाले ब्रम्हा जी तो
हंस सवारी ले आये 
बड़ी शान से इन्द्र आये
एरावत लेके हाथी
भैसे पे यमराज विराजे 
और यमदूत सभी साथी 
मस्ती में हरी गुण गाते 
नारद जी खुशी मनाते
शंकर के बने बाराती विणा बजायी के 
चारो को सजाई के हो राम 
शिवजी बिहाने चले पालकी सजाई के 
भभूति रमाय के हो राम 

मस्तक पर है त्रिलोचन और 
दूध सा चन्द्र विराज रहा 
डमडम डमरू बाज रहा 
और त्रिशूल हाथ में साज रहा 
भोले बाबा को पहनाये
नर मुंडो कि नित माला 
बाघम्बर के खाल ओढ़ाये
और कंधे पर मृग छाला
गंगा कि धारा बहती 
कल कल कल कल कहती 
बुरी नजर से इनको 
रखना बचायी के हो राम 
शिवजी बिहाने चले पालकी सजाई के 
भभूति रमाय के हो राम 

bhakti Bhajan Song Details

 Song  :- Shivji Bihane Chale Palaki Sajai Ke

 Singer:-  jaya Kishori ji

 Lyrics  :- 


Comments

नये भजन आप यहाँ से देख सकते है

Show more

Popular posts from this blog

कृष्ण भगवान के भजन लिरिक्स - Krishna Bhajan Lyrics

माता रानी के भजन लिरिक्स - Mata Rani Bhajan List - नवरात्रि स्पेशल देवी भजन लिस्ट

गणेश जी के भजन लिरिक्स - Ganesh Ji ke Bhajan Lyrics ( Ganpati Ji Ke bhajan lyrics ) Bhajan List