तुम मोरी राखो लाज हरी लिरिक्स - Tum Mori Rakho Laaj Hari Lyrics

तुम मोरी राखो लाज हरी लिरिक्स

तुम मोरी राखो लाज हरी
तुम जानत सब अन्तर्यामी
करनी कछु ना करी
तुम मोरी राखो लाज हरी

अवगुण मोसे बिसरत नाही
पलछिन घडी घडी
सब प्रपंच की पोट बाँध कर
अपने शीश धरी
तुम मोरी राखो लाज हरी

दारा सुत धन मोह लियो है
सुध बुध सब बिसरी
शूर प्रतीत को वेग उद्धारो
अब मोरी नाव भरी
तुम मोरी राखो लाज हरी

Bhakti Bhajan Song Details

 Song  :- Tum Mori Rakho Laaj Hari

 Singer:- Krishna Agarwal

 Lyrics  :-Soordas Ji

Comments

नये भजन आप यहाँ से देख सकते है

Popular posts from this blog

कृष्ण भगवान के भजन लिरिक्स - Krishna Bhajan Lyrics

शिव जी के भजन लिरिक्स - Shiv Ji ke Bhajan lyrics ( Bhole Nath ke Bhajan List )

गणेश जी के भजन लिरिक्स -Ganesh Ji ke Bhajan Lyrics ( Ganpati Ji Ke bhajan lyrics ) Bhajan List