ये गर्व भरा मस्तक मेरा प्रभु चरण धूल तक झुकने दे लिरिक्स - Ye Garv Bhara Mastak Mera Prabhu Charan Dhul Tak Jhukne De Lyrics

ये गर्व भरा मस्तक मेरा प्रभु चरण धूल तक झुकने दे लिरिक्स

ये गर्व भरा मस्तक मेरा,
प्रभु चरण धूल तक झुकने दे।
अहंकार विकार भरे मन को,
निज नाम की माला जपने दे,
ये गर्व भरा मस्तक मेरा,
प्रभु चरण धूल तक झुकने दे।
ये गर्व भरा मस्तक मेरा।

मैं मन के मैल को धो ना सका,
ये जीवन तेरा हो ना सका,
हाँ हो ना सका,
मैं प्रेमी हूँ, इतना ना झुका,
गिर भी जो पडू तो उठने दे,
ये गर्व भरा मस्तक मेरा,
प्रभु चरण धूल तक झुकने दे।
ये गर्व भरा मस्तक मेरा।

मैं ज्ञान की बातों में खोया,
और कर्म हीन पड़कर सोया,
जब आँख खुली तो मन रोया,
जग सोये मुझको जगने दे,
ये गर्व भरा मस्तक मेरा,
प्रभु चरण धूल तक झुकने दे।
ये गर्व भरा मस्तक मेरा।

जैसा हूँ मैं खोटा या खरा,
निर्दोष शरण में आ तो गया,
हाँ, आ तो गया,
इक बार ये कह दे खाली जा,
या प्रीत की रीत झलकने दे,
ये गर्व भरा मस्तक मेरा,
प्रभु चरण धूल तक झुकने दे।
ये गर्व भरा मस्तक मेरा।

ये गर्व भरा मस्तक मेरा,
प्रभु चरण धूल तक झुकने दे।
अहंकार विकार भरे मन को,
निज नाम की माला जपने दे,
ये गर्व भरा मस्तक मेरा,
प्रभु चरण धूल तक झुकने दे।
ये गर्व भरा मस्तक मेरा।

Bhakti Bhajan Song Details

 Song  :-Ye Garv Bhara Mastak Mera Prabhu Charan Dhul Tak Jhukne De

 Singer:- Hari Om Sharan

 Lyrics  :-Nirdosh

Comments

नये भजन आप यहाँ से देख सकते है

Show more

Popular posts from this blog

कृष्ण भगवान के भजन लिरिक्स - Krishna Bhajan Lyrics

माता रानी के भजन लिरिक्स - Mata Rani Bhajan List - नवरात्रि स्पेशल देवी भजन लिस्ट

गणेश जी के भजन लिरिक्स - Ganesh Ji ke Bhajan Lyrics ( Ganpati Ji Ke bhajan lyrics ) Bhajan List