धर्म सनातन उत्तम है डंके की चोट पर कहता हूँ लिरिक्स - Dharam Sanatan Uttam Hai Danke Ke Chot Pe Kahta Hu Lyrics

धर्म सनातन उत्तम है डंके की चोट पर कहता हूँ लिरिक्स

धर्म सनातन उत्तम है
डंके की चोट पर कहता हूँ
मैं श्री राम का सेवक हूँ
भगवे के रंग में रहता हूँ

ये भारत देश है जान मेरी
और भगवा है शान मेरी
ये सारी दुनिया जानती है
श्री राम से ही पहचान मेरी
मैंने जनम लिया जिस मिट्टी में
मैं उसको माता कहता हूँ
मैं श्री राम का सेवक हूँ
भगवे के रंग में रहता हूँ  

दुनिया में सबसे पहले 
मेरा धर्म सनातन है
मेरे भारत में चलता 
श्री रामचंद्र का शाशन है
बजरंगबली के जैसे ही 
प्रभु राम के गुण मैं गाता हूँ
मैं श्री राम का सेवक हूँ
भगवे के रंग में रहता हूँ  

मेरे भारत के जैसा ना 
प्यार कहीं देखा जग में
युगों युगों से प्रभु राम का 
नाम हमारी रग रग में
कृष्ण सांवरा’ साथ ‘सलीम’ के
राम राम ही कहता हूँ
मैं श्री राम का सेवक हूँ 
भगवे के रंग में रहता हूँ

Ram ji Ke Bhakti Bhajan Song

 Song  :- Dharam Sanatan Uttam Hai Danke Ke Chot Pe Kahta Hu

 Singer:- MASTER SALEEM

 Lyrics  :-KRISHAN SANWRA


टिप्पणियाँ

नये भजन आप यहाँ से देख सकते है

ज़्यादा दिखाएं

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

माता रानी के भजन लिरिक्स - Mata Rani Bhajan List - नवरात्रि स्पेशल देवी भजन लिस्ट

शिव जी के भजन लिरिक्स - Shiv Ji ke Bhajan lyrics ( Bhole Nath ke Bhajan List )

गणेश जी के भजन लिरिक्स - Ganesh Ji ke Bhajan Lyrics ( Ganpati Ji Ke bhajan lyrics ) Bhajan List