अम्बे तू है जगदम्बे काली आरती लिरिक्स- Ambe Tu Hai Jagdambe Kali Aarti Lyrics

 अम्बे तू है जगदम्बे काली आरती लिरिक्स


अम्बे तू है जगदम्बे काली,
जय दुर्गे खप्पर वाली,
तेर ही गुण गायें भारती,
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती 

तेरे भक्त जानो पर 
मैया भीड़ पड़ी है भारी,
दानव दल पर टूट पड़ो माँ 
कर के सिंह सवारी 
सौ सौ सिंघो से है बलशाली,
है दस भुजाओं वाली,
दुखिओं के दुखड़े निवारती 
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती

माँ बेटे की है इस जग में
बड़ा ही निर्मल नाता,
पूत कपूत सुने है पर ना 
माता सुनी कुमाता 
सबपे करुना बरसाने वाली,
अमृत बरसाने वाली,
दुखिओं के दुखड़े निवारती 
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती

नहीं मांगते धन और दौलत 
ना चांदी ना सोना,
हम तो मांगे माँ तेरे मन में 
एक छोटा सा कोना 
सब की बिगड़ी बनाने वाली,
लाज बचाने वाली,
सतिओं के सत को सवारती 
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती

अम्बे तू है जगदम्बे काली जय दुर्गे खप्पर वाली आरती लिरिक्स 
Ambe Tu Hai Jagdambe  Kali Jai Durge Khappar Wali Aarti Lyrics Hindi
Kali Mata Ki Aarti Lyrics Hindi 

Devi Aarti: Ambe Tu Hai Jagdambe Kali  
Singer: Anuradha Paudwal 
Lyricist: Traditional

Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics