सिर पे विराजे गंगा की धार भोलेनाथ भजन - Sir Pe Viraje Ganga Ki Dhar Bholenath Bhajan

Sir Pe Viraje Ganga Ki Dhar Bholenath Bhajan

(फ़िल्मी तर्ज पर भोलेनाथ का भजन )

सिर पे विराजे गंगा की धार 
कहते है उनको भोलेनाथ 
वही रखवाला है इस सारे जग का

हाथो में त्रिशूल लिए है गले में है  सर्पो की माला 
माथे पे चन्द्र सोहे अंगो पे विभूति लगाये 
भक्त खड़े जयकार करे 
दुखियो का सहारा है मेरा भोलेबाबा 
वही रखवाला है इस सारे जग का

सिर पे विराजे गंगा की धार 
कहते है उनको भोलेनाथ 
वही रखवाला है इस सारे जग का

काशी में जाके विराजे देखो तीनो लोक के स्वामी 
अंगो पे विभूति रमाये देखो वो है अवघडदानी 
भक्त तेरा गुणगान करे 
दुखियो का सहारा है मेरा भोलेबाबा 
वही रखवाला है इस सारे जग का

सिर पे विराजे गंगा की धार 
कहते है उनको भोलेनाथ 
वही रखवाला है इस सारे जग का

Sir Pe Viraje Ganga Ki Dhar Bholenath Bhajan Filmi Tarj Par 
Bholenath Ka Bhajan  Lyrics In Hindi
भोलेनाथ के नये भजन आप यहाँ पर देख सकते है 
  1. मेरा भोला है भंडारी करे नंदी की सवारी भोलेनाथ
  2. हे भोळ्या शंकरा
  3. ये तेरा करम है भोले क़व्वाली भजन
  4. फरियाद मेरीसुनकर भोलेनाथ चले आना भजन
  5. सजा दो घर कोगुलशन सा मेरे भोलेनाथ आये है
  6. नगर में जोगी आयाभेद कोई समझ ना पाया भजन
  7. शिवजी तेरे द्वारहम भी आयेंगे फ़िल्मी तर्ज भजन
  8. सांसो की माला पेसिमरु मै शिव का नाम
  9. डम डम डमरू बजानाहोगा भोले मेरी कुटिया में आना होगा
  10. सुन महादेवा होमेरे भोले से भोले बाबा
  11. भोलेनाथ का चेला
  12. भोले चेला बना ले


Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics