वतन के सिवा कुछ ना चाहत करेंगे भजन लिरिक्स - Vatan Ke Siwa Kuch Na Chahat Karenge Bhajan Lyrics

वतन के सिवा कुछ ना चाहत करेंगे भजन लिरिक्स

फ़िल्मी तर्ज - तुम्हारे सिवा कुछ ना चाहत करेंगे

वतन के सिवा कुछ ना चाहत करेंगे

कि जब तक जिएंगे वतन पे मरेंगे


ओ अमर शहीद मेरी सांसो में हो तुम

ओ अमर शहीद मेरे ख्वाबो में हो तुम

तेरे बलिदान पे तो  बोल मेरे हैं कम

गर्व से भरा है सींना आंख मेरी हैं नम

देश का हर इक इक.. इंसां कहेंगे

कि जब तक जिएंगे वतन पे मरेंगे

 

ऊंचा तिरंगा तेरा स्थान रहेगा

दुनिया मे भारत का नाम रहेगा

माँ पिता भाई बहना का मान रहेगा

पत्नी के दिल मे भी अभिमान रहेगा

भगतसिंह सुभाष मरके..ज़िंदा रहेंगे

कि जब तक जिएंगे वतन पे मरेंगे

 

सभी देशवासी हैं हां साथ तेरे

भूलेंगे ना हम एहसान तेरे

करू मैं गुजारिश सुनो भाई बहना

शहीदों के घर को रक्खो,जैसे हो गहना

ये वादा किया तो वो.. जोश से लड़ेंगे

कि जब तक जिएंगे वतन पे मरेंगे


वतन के सिवा कुछ ना चाहत करेंगे भजन लिरिक्स 

Vatan Ke Siwa Kuch Na Chahat Karenge Bhajan Lyrics 

Singer & Lyrics - Mukesh Kumar

ऐसे ही सुन्दर भजन आप यहां पर देख सखते है

Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics