हरी नाम नही होता तो भक्तो का क्या होता - Hari Naam Nahi Hota To Bhakto ka Kya Hota

हरी नाम नही होते तो भक्तो का क्या होता 

शायरी 
भगवान की अदालत में वकालत नही होती 
अगर एक बार सजा हो जाये तो जमानत नही होती 
**

हरी भजन 
हरी नाम नही होता तो भक्तो का क्या होता
हर एक समस्या का समाधान कहा होता  

पंडित भी हजारो है विद्वान भी देखे है 
लेकिन रावन के जैसा शिव भक्त कहा होता 
हरी नाम नही होता तो भक्तो का क्या होता 

दानी भी हजारो है दान भी करते है 
कन्या दान के जैसा कोई दान कहा होता 
हरी नाम नही होता तो भक्तो का क्या होता 

मेहमान हजारो है मेहमानी भी होती है 
सुदामा के जैसा मेहमान कहा होता 
हरी नाम नही होता तो भक्तो का क्या होता  

प्रेमी भी हजारो है और प्यार भी करते है 
लेकिन मीरा के जैसा प्रेम कहा होता 
हरी नाम नही होता तो भक्तो का क्या होता 

गुरुदेव के भजन यहा पर देख सकते है

Hari Naam Nahi Hota To Bhakto ka Kya Hota 

Comments

Popular posts from this blog

गणेश जी के भजन -Ganesh Ji ke Bhajan

शिव जी के भजन - Shiv Ji ke Bhajan

विट्ठलाचे अभंग मराठी लिरिक्स - Vitthalache Abhang Marathi lyrics